बॉयज लॉकर रूम बनाने वाला निकला नोएडा का लड़का, जानें कैसे हुआ खुलासा

सोशल मीडिया (Social Media) पर सनसनी मचा देने वाले और बच्चों के इंटरनेट इस्तेमाल पर प्रश्न चिन्ह लगा देने वाले बॉयज लॉकर रूम (Boys Locker Room) ग्रुप बनाने वाले के बारे में पुलिस को पता चल चुका है। ये लड़का नोएडा (Noida) का रहने वाला है और ये एक बालिग लड़का है। इसने अपने दोस्तों को इसमें जोड़ा और कई लड़कों को इसका ग्रुप एडमिन भी बनाया।

दिल्ली महिला आयोग (DCW) की अधय्क्षा स्वाति मालीवाल (Swati Maliwal) ने जब इस मामले पर संज्ञान लेते हुए दिल्ली पुलिस और इंस्टाग्राम को नोटिस भेजा तब मामला मीडिया में भी उछला। इस ग्रुप में स्कूली लड़के अपने साथ की लड़कियों की अश्लील तस्वीरें शेयर कर उनके साथ रेप करने की योजना बना रहे थे।

इस ग्रुप की चैटिंग का स्क्रीन शॉट सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा, स्वाति मालीवाल तक जैसे ही ये खबर पहुंची तो उन्होंने तुरंत इसको लेकर ऐक्शन लिया। अब जब पुलिस इस ग्रुप से जुड़े बालिग लड़कों को पूछताछ के लिए बुलाया तो वो नहीं आए। इसके बाद पुलिस ने 5 बालिग लड़कों को हिरासत में लिया।

यह भी पढ़ें - गलत राह आसान है लेकिन उसपर चलने से कैसे बचायेंगे अपने बच्चों को आप? पढ़ें यहां...
लड़कियों की अश्लील तस्वीर आई कहां से?
पुलिस सूत्रों की माने तो सबूत इकट्ठा हो जाने के बाद आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। साथ ही ये पता लगाने की भी कोशिश की जा रही है कि आखिर इन लड़कों के पास अपने ही साथ की लड़कियों की अश्लीस तस्वीरें आई कहां से।
ऐसे हुआ ग्रुप का खुलासा
इस ग्रुप की सच्चाई का खुलासा तब हुआ जब इन लड़कों में से एक लड़के ने ग्रुप चैट के स्क्रीन शॉट उस लड़की को भेजे जिसकी अश्लील तस्वीरें ग्रुप में शेयर की गई थी। लड़के का कहना है कि उसने ग्रुप में कोई चैट नहीं की है। उसने 8-9 दिन बाद जब ग्रुप देखा तो लड़की को उसके स्क्रीन शॉट भेजे। उसके बाद लड़की ने अपनी साथी लड़कियों से ये बातें शेयर की। उन्होंने मिलकर अश्लील बातों वाले स्क्रीन शॉट सोशल मीडिया पर डाल दिये और वो वायरल हो गए। इसके बाद लड़कों ने डर के मारे ग्रुप डिलीट कर दिया।

यह भी पढ़ें -  ये नेता दो बार बन सकता था पीएम, लेकिन बेटे की कुछ तस्वीरों के चलते खत्म हो गई पॉलिटिक्स