शनिवार के चमत्कारिक टोटके

शनिवार का दिन मुख्य रूप से शनिदेव को समर्पित होता है शनिदेव की कृपा से व्यक्ति के बने बनाए काम बिगड़ जाते हैं और न जाने कितने ही काम समझ जाते हैं यह उनकी प्रगति निर्धारित करते हैं यदि कुंडली कविता शनिदेव की दिशा अच्छी चल रही है तो वह व्यक्ति रंक से राजा तक बन सकता है परंतु शनि की खराब दशा व्यक्ति को दरिद्रता तक के दर्शन करा देती है सनी का यह भयानक रूप पूरी जिंदगी को तहस-नहस करके रख देता है इसके साथ ही अगर बात करें कि यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में शनि की साढ़ेसाती अध्याय प्रकृति जाई जाई हो तो उसका जीवन समझो सर्वनाश के करीब होता है ऐसे व्यक्तियों को जरूरी है कि शनिवार के दिन शनि के उपाय जरूर करें तो तो आज के इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे टोटके बताएंगे जो कि शनिवार के दिन किए जाते हैं जिससे प्रसन्न होते हैं शनिदेव
शनिवार के टोटके 
विद्यार्थियो को अच्छी बुद्धि और ज्ञान पाने के लिए शनिवार कि रात अनार की कलम से किसी भोजपत्र पर चंदन से ॐ हीं  लिख कर उसकी पूजा करनी चाहिए. 
यदि जीवन में कामयाबी पाना चाहते हैं तो शनिवार के दिन चीटियों को खाना जरूर खिलाएं.
शनिदेव के बुरे प्रभावों से बचने के हेतु  शनिवार को काली गाय को रोटी खिलाना, चिड़िया के आगे दाने डालना और काले कुत्ते को रोटी खिलाने से विशेष लाभ होता है. 
शनिवार के  दिन यदि किसी गरीब को तेल में  बना खाना खिलाया जाय तो इससे भी शनिदेव प्रसन्न होते हैं. 
जीवन में  आने  वाली  परेशानियों से मुक्ति पाने के लिए शनिवार के दिन काले घोड़े की नाल या नाव की कील से बनी अंगूठी धारण करना विशेष फलदायी होता है।
यदि आपके मन में कई दिनों से कोई ख़ास कामना है जिसकी पूर्ति नहीं हो पा रही है तो, इसके लिए शनिवार के दिन यदि आप शाम के वक़्त अपनी लम्बाई के अनुसार रेशमी लाल धागा लेते हैं और उसे पानी से अच्छी तरह से धोकर आम के पत्ते से लपेटने के बाद अपनी कामना का ध्यान करते हुए नदी में प्रवाहित करते हैं तो आपकी कामना पूरी हो सकती है.

ऐसे लोग जिनकी शनि की साढ़ेसाती या शनि की ढैय्या चल रही हो उन्हें हर शनिवार को पीपल के पेड़ की पूजा करनी चाहिए और उसके चारों तरफ सात बार परिक्रमा कर “ऊं शं शनैश्चराय नम:” मंत्र का जाप करना चाहिए इससे मनोकामनाएं पूरी होती हैं।
शनि के हानिकारक प्रकोप से बचने के लिए शनिवार के दिन यदि विशेष रूप से हनुमान चालीसा का पाठ किया जाए तो इससे भी अच्छा फल प्राप्त होता है।
यदि आप आर्थिक तंगी और धन कि समस्या से जूझ रहे हैं तो शनिवार के दिन पीपल के पेड़ के नीचे चार मुख वाला दिया जलाएं। ऐसा करने से आर्थिक तंगी से निजात मिलती है और घर में सुख शांति का वास होता है।
शनि की साढ़ेसाती या शनि की ढैय्या से मुक्ति पाने के लिए नियमित रूप से प्रत्येक शनिवार के दिन नीले रंग के फूल से शनिदेव की पूजा अर्चना करें और “ॐ शं शनैश्चराय नमः” मन्त्र का करीबन 108 बार जाप करें।
 निरोग रहने के लिए शनिवार के दिन तांबे के बर्तन में जल और तिल मिलाकर भगवान भोलेनाथ को अर्पित करे.

 

यह भी पढ़ें - SHANI VAKRI 2020: इस तारीख से शनि चलेंगे उल्टी चाल, जानें किन राशि वालों को रहना होगा सतर्क, किसे होगा लाभ