बैन के बाद भी खुल रहीं पॉर्न साइट्स, ऐसे चल रहा सीक्रेट खेल

भारत में बैन के बावजूद सीक्रेट तरीके से पॉर्न वेबसाइट्स धड़ल्ले से चल रही हैं. डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकम्यूनिकेशंस की सख्ती के बाद भी देशभर में करोड़ों स्मार्टफोन्स और कंप्यूटर पर बिना किसी डर के पॉर्न धड़ल्ले से देखा जा रहा है.
बताया जा रहा है कि दुनिया की दो जानी-मानी पॉर्न वेबसाइट RedTube और PornHub भारत में आसानी से खुल रही है. यह सामने आया है कि इन वेबसाइट्स को ऐक्सेस करने के लिए बैन बाईपास करने की भी जरूरत नहीं पड़ रही.
स्मार्टफोन्स और कंप्यूटर पर PornHub अब .org के साथ खुल रहा है. वहीं रेडट्यूब को .net के साथ ऐक्सेस किया जा सकता है.
जानकारों का कहना है कि .org अधिकतर नॉन-प्रॉफिट ऑर्गनाइजेशन इस्तेमाल करते हैं. वहीं, .net का इस्तेमाल एक्सटेंशन नेटवर्क के लिए होता है. .net डोमेन अधिकतर इंटरनेट, ईमेल और नेटवर्किंग सर्विस प्रोवाइडर्स इस्तेमाल करते हैं.
भारत सरकार ने शुरुआत में .com डोमेन के साथ खुलने वाली पॉर्न वेबसाइट्स को बैन किया था. बैन के कुछ दिन बाद ही कई साइट्स ने इसका दूसरा रास्ता निकाल लिया.
अब पॉर्न वेबसाइट्स .com को छोड़ .org या .net के जरिये खुल रही है. इसके अलावा ब्लॉक्ड वेबसाइट्स को ऐक्सेस करने के लिए वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क, दूसरे ब्राउजर्स, प्रॉक्सी जैसे तरीके भी लोग अपना रहे हैं.
मालूम हो कि डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकम्यूनिकेशन्स ने 2015 में देश की सभी इंटरनेट सर्विस लाइसेंसीज को पत्र लिखकर पॉर्न वेबसाइट्स को बंद करने का आदेश दिया था.
इसके बाद जियो, वोडाफोन और एयरटेल जैसी मुख्य टेलिकॉम कंपनियों ने पॉर्न और चाइल्ड पॉर्न कॉन्टेंट दिखाने वाली वेबसाइट्स को बैन किया था.
गौरतलब है कि भारत सरकार 857 पॉर्न वेबसाइट्स को अनैतिक कॉन्टेंट और अश्लीलता के लिए बैन किया हुआ है. साइबर कानून विशेषज्ञ पवन दुग्गल का कहना है कि भारत में कठोर साइबर सुरक्षा कानूनों की जरूरत है. क्योंकि सरकार के बैन के बावजूद वेबसाइट्स चल रही हैं.

यह भी पढ़ें -   बेटे की वजह से कोठे पर मां हर दिन बेचती रही अपनी आबरू; मजबूरी जानकर सब के आंखों में आ गए आंसू