सीरियल रेपिस्ट बोला- रेप के पहले तोड़ देता था बच्चियों की टांग, पुलिस के उड़े होश

गुड़गांव में कुछ दिन पहले सेक्टर-66 में 3 साल की बच्ची से रेप और हत्या के मामले में पकड़ाए आरोपी सुनील ने कई खुलासे किये हैं. पता लगा है कि आरोपी ने एक नहीं बल्कि 9 मासूम बच्चियों से रेप और हत्या की है. गुड़गांव पुलिस के सामने उसने यह सभी वारदातें दिल्ली, ग्वालियर व झांसी में अंजाम देने की बात बताई है.
पूछताछ में बच्चियों से रेप करने वाले दरिन्दे ने कई रौंगटे खड़े करने वाली बातें पुलिस को बताई. उसने कहा कि वह अपनी हवस मिटाने बच्चियों को निशाना बनाता था. वह उन्हें कुरकुरे या चॉकलेट दिलाने के बहाने बुलाता फिर सुनसान स्थान पर ले जाता.
आरोपी रेप के पहले बच्चियों की टांग तोड़ देता था, ताकि वह भाग न पाए. इसके बाद वह बच्चियों से रेप करता और फिर सिर पर पत्थर मारकर हत्या कर देता. शव को कभी मौके पर तो कभी अगल बगल फेंक देता था.
रेप और हत्या के बाद आरोपी शराब पीकर एंजॉय करता था. डीसीपी क्राइम सुमित कुमार ने पूछताछ में बताया कि युवक ने खुलासा किया कि रेप के बाद वह ओल्ड गुड़गांव गया.
गुरुद्वारा में भंडारा खाकर वह कमला नेहरू पार्क में सो गया. फिर अगली सुबह ट्रेन पकड़ दिल्ली गया. फिर अगली सुबह ट्रेन से झांसी गया. तब से वहीं घूमता रहा.
बता दें कि 12 नवंबर की सुबह तीन साल की मासूम से रेप के बाद बर्बरता कर उसकी हत्या की वारदात का आरोपी पास की ही झुग्गी में रहने वाले युवक सुनील था. पुलिस ने उसके जीजा और बहन और मां से पूछताछ की. फिर शनिवार देर रात उसे झांसी के मगरपुर गांव से अरेस्ट किया गया.
जांच में पुलिस को यह भी पता चला कि युवक सड़क किनारे कहीं भी सो जाता था. उसे भंडारे में खाना खाने का शौक था. इसलिए पुलिस ने मंगलवार को गुड़गांव के एक हनुमान मंदिर में, गुरुवार को सांई मंदिर में और शनिवार को शनि मंदिर में भंडारे का आयोजन किया था.

यह भी पढ़ें -   किन्नर से संबंध बनाते पकड़ा गया सिपाही, जांच के आदेश