26 लोगों ने किया था ननों से रेप, 21 साल बाद पकड़ा गया 25वां आरोपी

21 साल पहले 26 लोगों ने 4 ईसाई ननों के साथ गैंगरेप क‍िया और फ‍िर फरार हो गए थे. पुल‍िस ने धीरे-धीरे आरोप‍ियों को पकड़ा ज‍िसमें 24 आरोपी ग‍िरफ्त में ल‍िए. सोमवार को 25वां आरोपी पुल‍िस ने ग‍िरफ्तार क‍िया. अभी भी एक आरोपी फरार है. घटना मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले की थी.
झाबुआ जिले के एक चर्च में 21 साले पहले चार ईसाई ननों के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना में कथित तौर पर शामिल होने के आरोपी 45 साल के एक शख्स को पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार किया. झाबुआ नन कांड अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी चर्चित हुआ था.
पुल‍िस अध‍िकारियों के मुताब‍िक, 23 सितंबर 1998 की रात नवापाड़ा भंडारिया गांव में चर्च का ताला तोड़कर आरोपियों ने कपड़े, रेडियो एवं नगदी आदि लूटकर 4 ननों से बलात्कार किया था.
इस घटना में शामिल एक फरार आरोपी 45 साल के कालू लिमजी को सोमवार को गांव अंबा से गिरफ्तार किया गया. पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि थाना कल्याणपुरा में दर्ज मामले में 21 सालों से फरार चल रहा आरोपी कालू गांव अंबा में रह रहा है. वह कुछ समय पहले गुजरात से मजदूरी कर वापस आया है. इस सूचना पर पुलिस दल ने घेराबंदी कर फरार आरोपी को दबोच लिया.
इस घटना में शामिल एक फरार आरोपी 45 साल के कालू लिमजी को सोमवार को गांव अंबा से गिरफ्तार किया गया. पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि थाना कल्याणपुरा में दर्ज मामले में 21 सालों से फरार चल रहा आरोपी कालू गांव अंबा में रह रहा है. वह कुछ समय पहले गुजरात से मजदूरी कर वापस आया है. इस सूचना पर पुलिस दल ने घेराबंदी कर फरार आरोपी को दबोच लिया.
झाबुआ जिले के कल्याणपुरा क्षेत्र के गांव नवापाड़ा में चर्च और डिस्पेंसरी साथ-साथ थी. 23 सितंबर 1998 को कुछ लोग आए और उन्होंने दरवाजा खटखटाते हुए कहा एक मरीज को तत्काल दवाई की जरूरत है. वे अंदर आना चाहते थे. उस वक्त पुदुच्चेरी से आई हुईं चार नन अंदर मौजूद थी. जब उन्होंने दरवाजा नहीं खोला तो बाहर खड़े लोग दरवाजा तोड़कर अंदर दाखिल हो गए. अगले दो घंटे तक उन्होंने वहां रखे रुपए, कीमती सामान आदि लूट लिया और ननों के साथ गैंगरेप क‍िया.

मामला न केवल देश में बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर तक सुर्खियों में आ गया था. देश के कई बड़े नेता झाबुआ पहुंचे थे. मामले में झाबुआ कोर्ट ने तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह को भी वारंट जारी किया था. पुलिस ने प्रकरण में 26 आरोपियों के खिलाफ कल्याणपुरा थाने में धारा 395, 397, 376 के तहत एफआईआर दर्ज की थी.

यह भी पढ़ें -   3 लड़कों से बना रही थी संबंध, जबरन बनाया वीडियो तो 12 पर किया रेप केस