लाउडस्पीकर पर हो रही अजान पर जावेद अख्तर ने उठाए सवाल,यूजर्स ने किया ट्रोल तो मिला ये जवाब

देश में उठे सभी मुद्दों पर अपनी विचार रखने वाले बॉलीवुड गीतकार जावेदअख्तर एक फिर से अपने ट्वीट के कारण लोगों के निशाने पर आ गए हैं। हाल ही में उन्होंने मुस्लिम समाज में लाउडस्पीकर पर होने वाली अजान को सिर्फ परेशान करना बताया है। उनके ये विचार ट्विटर पर कुछ यूजर्स को बिल्कुल भी पंसद नहीं आए जिसके बाद यूजर्स ने उन्हें अपने निशाने पर लेते हुए ट्रोल करना शुरु कर दिया।
जावेद अख्तर ने लाउडस्पीकर पर होने वाली अजान को लेकर ट्वीट करते हुए लिखा-भारत में तकरीबन 50 साल तक लाउडस्पीकर पर अजान हराम थी। इसके बाद ये हलाल हो गई और इस कदर हलाल हुई कि इसकी कोई सीमा ही नहीं रही। मैं कहता हूं कि अजान करना ठीक है लेकिन लाउडस्पीकर पर इसे करना सहीं नहीं है क्योंकि इससे दूसरों को असुविधा होती है।मुझे उम्मीद कि कम से कम इस बार वो इसे खुद करेंगे।
यूजर ने जावेद अख्तर से कहा ये
उनका ये ट्वीट करना उनको इतना भारी पड़ कि एक यूजर ने कमेंट करते हुए लिखा-हमारे यहां रोज मंदिर में लाउडस्पीकर पर भजन बजते हैं इस पर आपकी क्या राय है? इस पर जावेद अख्तर ने रिप्लाई देते हुए लिखा- वो मंदिर हो या मस्जिद, कभी किसी त्योहार पर लाउडस्पीकर हो, तो चलो ठीक है। मगर रोज रोज तो न मंदिर में होना चाहिए न मस्जिद में।
ट्रोलर्स को मिला ये जवाब
यूजर्स ने कई तरह के कमेंट किए जिसके बाद जावेद अख्तर ने एक ऐसा जवाब दिया जिससे सभी के मुंह बंद हो गए। उन्होंने कहा कि तो क्या तुम ये कहना चाहते हो कि वे इस्लामिक विद्वान जिन्होंने लगभग 50 साल पहले लाउडस्पीकर को हराम घोषित किया था, वे सभी गलत थे और नहीं जानते थे कि वे किस बारे में बात कर रहे हैं। अगर तुम्हारे पास हिम्मत है तो ऐसा कहो, फिर मैं तुम्हें उन सभी इस्लामिक विद्वानों के नाम बताऊंगा।
आपको बता दें कि जावेद अख्तर पहले अभिनेता नहीं हैं जिन्होंने लाउडस्पीकर पर हो रही अजान पर सवाल उठाए हैं। इससे पहले भी बॉलीवुड सिंगर सोनू निगम भी इस इस मामले में अपनी राय रख चुके हैं।

यह भी पढ़ें -  मां की जीरॉक्स हैं ये बॉलिवुड ऐक्ट्रेसस, कुछ तस्वीरें तो आपका सिर घुमा देंगी